दोस्तों आज में अपने इस आर्टिकल में आपको माक्रोवेव का इस्तमाल किन चीजों के लिए किया जा सकता है /Interesting Uses Of Microwave बताने जा रही हूँ। 

  • माक्रोवेव का इस्तमाल ब्रेड से सूखी ब्रेड क्रम्ब्स बनाने के लिए ताजी ब्रेड के स्लाइस के टुकड़े कर ले और 2-3 मिनट के लिये माइक्रोवेव करें फिर इसे मिक्स करेऔर फिर एक बार 1-2 मिनट के लिए  माइक्रोवेव करें।अब इनकी नमी सूखने दे और फिर इसे मिक्सर में पीस लें।ब्रेड क्रम्ब्स तैयार है।इन्हे एक एयर टाइट डिब्बे में डालकर फ्रिज में रख दे ओर जब आपको इस्तमाल करना हो करे।ये एक दो हफ्ते तक खराब नहीं होते। 
  • माक्रोवेव का इस्तमाल देसी घी बनाना हो तो अपनी कड़ाही को जलाए बिना देसी घी प्राप्त करने के लिए 1.5-2 कप मलाई को एक बड़े कांच के बाउल जो की heat resistant हो उसमे डालकर15-20 मिनट के लिए हाई टेम्प्रेचर पर माइक्रोवेव में रखे बीच में एक या दो बार हिलाये और बिना कड़ाही जलाये आपका देसी घी तैयार है। 
  • माइक्रोवेव का इस्तमाल बादाम का छिलका हटाने के लिए बादाम को एक छोटी कटोरी में जो की heat resistant हो पानी में डालें और 3 मिनट के लिए या जब तक पानी उबलने लगे तब तक माइक्रोवेव करेंगे और फिर माइक्रोवेव से निकाल कर पानी  के ठंडा होने के बाद बादाम को बहुत आसानी से छील लिया जा सकता है। 
  • माइक्रोवेव का इस्तमाल जमी हुई चीज़े जैसे चॉकलेट, मक्खन, जैम, शहद,आदि को पिघलाने के लिए और जिलेटिन को मिलाने के लिए किया जाता है 
  • माइक्रोवेव का इस्तमाल सिली हुई चीजों को जैसे की चिप्स, बिस्कुट या कॉर्नफ्लेक्स जो की कुरकुरापन खो चुके होते हैं।उनको क्रिस्पी करने के लिए भी किया जाता है।लगभग 1 मिनट के लिए प्रति बाउल के हिसाब से या जब तक वे गर्म महसूस न हो तब तक माइक्रोवेव करें।फिर चिप्स या बिस्कुट को नैपकिन पर रखें और ठंडा होने दे फिर ठंडा होने के बाद सर्व करें। 
  • माइक्रोवेव का इस्तमाल आलू उबालने के लिए भी किया जाता है।4 आलू को धो लें।उन्हें माइक्रोवेव की टर्नटेबल पर रखें।4 मध्यम आलू 5 मिनट के लिए माइक्रोवेव करे।  
  •  माइक्रोवेव का इस्तमाल खट्टी मीठी चटनी बनाने के लिए भी किया जाता है।एक गिलास बाउल में 1 टेबल स्पून अमचूर, 3 टेबलस्पून चीनी या गुड़ , 1/4 कप पानी मिलाएं और नमक,पीसी लाल मिर्च मिलाये।अब 3 मिनट के लिए माइक्रोवेव करेऔर बीच-बीच में मिलाते रहे। 
  • माइक्रोवेव का इस्तमाल 30 सेकंड के लिए बच्चे की दूध की बोतल गर्म करने के लिए भी किया जाता है।पर दूध का तापमान अपनी कलाई पर चेक करना पड़ेगा।बोतल गर्म नहीं होगी, जबकि दूध गुनगुन होगा। 
  • माइक्रोवेव का इस्तमाल 30 सेकंड के लिए बहुत हार्ड आइसक्रीम, क्रीम,पनीर और मक्खन आदि को सॉफ्ट करने के लिए भी किया जाता है। 
  • माइक्रोवेव का इस्तमाल पुदीना,धनिया, मेथी, साग को सुखाने के लिए भी किया जाता है। जिससे उनके हरे रंग को संरक्षित रखा जा सके।उन्हें सूखने के लिए कुछ समय दें। 
ध्यान दे की की हर एक माइक्रोवेव के हिसाब से टेम्प्रेचर कम या ज्यादा हो सकता है।अगर आपको मेरा ये आर्टिकल अच्छा लगे तो इसे जरूर शेयर और लाइक करेऔर अगर आपके कोई भी सवाल इस आर्टिकल से सम्भंधित हो तो अपने सवाल निचे दिए कमेंट बॉक्स में पोस्ट करे धन्यवाद।😊😊 

आज में अपने इस आर्टिकल में आपको शुद्ध शहद की जाँच(पहचान) कैसे की जाती है (How to Check for Pure honey)के बारे में बताने जा रही हूँ।कई बार शहद जम कर शक़्कर की तरह लगने लगता है।

इसलिए शहद शुद्ध है या नहीं इसकी जांच आप घर पर ही कई तरीको से इस प्रकार कर सकते है। 

  • जो शहद सुगन्धित होता है वह शुद्ध होता है।शुद्ध शहद सर्दियों में जम जाता है और गर्मियों में पिघल जाता है।शुद्ध शहद का दाग नहीं लगता है। 
  • अगर शहद की शीशी में से इसकी धार बंद प्लेट में टपकाए तो नीचे लाइन सी बनने लगती है। शुद्ध शहद में मक्खी के पखं नहीं फ़स्ते और वह आसानी से निकल कर उड़ जाती है। 
  • आँख में लगाने पर शुद्ध शहद जलन करेगा लेकिन उसमे चिपचिपाहट नहीं होगी।बल्कि थोड़ी देर बाद ठंडक का अनुभव होगा। 
  • शुद्ध शहद देखने में साफ और पारदर्शी होता है।अगर शहद शुद्ध होता है तो कुत्ते के आगे शहद रखने पर रखने पर वह उसे नहीं खता है। 
  • शहद की बून्द एक प्लेट या लकड़ी पर टपका कर इसे दियासिलाई जलाकर इसे आग का स्पर्श दिया जाये तो असली शहद शीघ्र जलने लगेगा और नकली होगा तो देर से जलेगा। 
  • एक प्रसिद्ध तरीका यह भी है की आप एक कांच के साफ गिलास में पानी भर कर शहद की बून्द टपकाए यदि बून्द सीधी तली तक जाकर बैठ जाये तो शहद शुद्ध है और फेल कर पानी में बिना हिलाये स्वयं ही पानी में घुल जाये तो शहद मिलावट वाला है। 

नमस्ते दोस्तों मेरा आज का आर्टिकल शहद को इस्तमाल करने के नियम(The Right Way to Use Honey)पर है। शहद तो सभी इस्तमाल करते है ये हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छा होता है।

शहद का इस्तमाल बच्चे, बूढ़े और जवान सभी उम्र के लोग कर सकते है।लेकिन इसका इस्तमाल किस तरह करना चाहिए उसके बारे में जानना बहुत ही आवश्यक है। 

ज्यादा तर लोगो को इसका इस्तमाल किस तरह करना चाहिए पता होगा पर बहुत से ऐसे लोग भी होंगे जो की नहीं जानते होंगे की शहद का इस्तमाल करने के नियम क्या होते है। 

एक बात बहुत ही आवश्यक है की शहद को गर्म करके गर्म पदार्थ के साथ ग्रीष्म ऋतु में नहीं लेना चाहिए और गरिष्ठ पदार्थो के साथ नहीं लेना चाहिए। क्योकि ये हानिकारक होता है। 

  • शहद को अगर गर्मियों में ले रहे है तो ठंडे दूध या पानी में मिलाकर लेना चाहिए।अगर सर्दियों में ले रहे है तो शहद को गर्म अथवा गुनगुने दूध या पानी में लेना चाहिए। 
  • जिनको अपना मोटापा कम करना है उन्हें प्रतिदिन प्रातःकाल शौच जाने से पहले 1 गिलास ठंडे पानी में 1 टेबल स्पून शहद मिलाकर पीना चाहिए। 
  • शहद को बिना किसी पदार्थ में डाले सेवन नहीं करना चाहिए क्योकि शहद की तासीर गर्म होती है।
  • शहद को कुछ पदार्थो के साथ नहीं लेना चाहिए जैसे शक़्कर, मिश्री, खांड, गुड़,तेल, घी, पका हुआ कटहल, मछली अंडा, मांस आदि के अलावा गर्म दवाओं और गर्म पदार्थो के साथ शहद को नहीं लेना चाहिए। 
  • शहद के साथ कभी भी बराबर मात्रा में घी मिलाकर नहीं खाना चाहिए।शहद और पानी भी समान मात्रा में नहीं लेना चाहिए। 
  • शहद के साथ घी की मात्रा आधी या चौथाई होनी चाहिए और पानी के साथ शहद की मात्रा अधिक या चौगुनी  होनी चाहिए तभी इसका सेवन करना चाहिए। 
  • जिनको अपना दुबलापन दूर करना है।उनको रोज रात को 1 गिलास ठंडे दूध में एक टेबल स्पून शहद मिलाकर पुरे शीतकाल में पीना चाहिए।
  • इससे दुबलापन दूर होता है और शरीर मोटा और सुडोल बनता है।त्वचा का रंग भी साफ होता है और चेहरे पर कान्ति और लालिमा बढ़ती है। 
  • जो अधिक शारीरिक और मानसिक परिश्रम करते है।उनको सर्दीयो में रात को सोने से पहले 1 गिलास गर्म दूध में 1 टेबल स्पून शहद मिलाकर पीना चाहिए। 
  • शहद में यह विशेष गुण है की ये जिस भी पदार्थ के साथ मिलता है उसी का गुण ग्रहण कर लेता है।इसके  सम्पर्क में रहने वाला पदार्थ सड़ता या खराब नहीं होता है। 
  • इसीलिए शहद को योगवाही कहा जाता हैऔरऔषधि सेवन हेतु इसे अनुपान की जगह प्रयोग किया जाता है। 
  • आयुर्वेद के नियम अनुसार अगर शहद का सेवन सही ढंग तरीके से किया जाये तो ये बहुत ही लाभकारी होता है और गलत तरीके से इसका सेवन किया जाये तो हानिकारक सिद्ध होता है। 

नमस्ते दोस्तों आज में आपके साथ इस आर्टिकल में Muscleblaze Raw Whey Protein 80% (Unflavoured) का review देने जा रही हूँ।जो की बिगनर्स के लिए अच्छा है।

  • ये प्रोटीन Working women, Teenagers, Housewife जो की वर्कआउट करते है।उन लोगो के लिए अच्छा है। क्योकि आजकल के खाने से हमे इतना प्रोटीन नहीं मिलता जितना हमारे शरीर को जरूरी होता है।
  • इसलिए हमे अपनी प्रतिदिन की परिचर्या में प्रोटीन का यूज़ जरूर करना चाहिए।मैने अपने पहले भी एक ब्लॉग में प्रोटीन के बारे में आर्टिकल लिखा था। 
  • वो मैने चॉकलेट प्रोटीन के बारे में लिखा था लेकिन ये Unflavoured प्रोटीन है। मुझे वो बहुत मीठा लगता था इसलिए मैने अपने लिए बिना स्वाद का Muscleblaze का Whey Protein मंगाया। 
  • ये मेँ 15 दिन से यूज़ कर रही हूँ मुझे इसमें कोई खराबी नज़र नहीं आयी।जो लोग मीठा बिल्कुल कम या बिल्कुल नहीं पसंद करते उनके लिए ये बेस्ट है। 
  •  Muscleblaze Raw Whey Protein 80% (Unflavoured) प्रोटीन में Digestive Enzymes है। जिसके कारण ये जल्दी डाइजस हो जाता है। 
  • इसमें कोई फ्लेवर नहीं डाला गया है।न ही इसमें शुगर डली हुई है।इस प्रोटीन सेआपको 1serving में जो की 30g की है उससे आपको 24g protein मिलेगा। 
  • इसका यूज़ दिनभर में ज्यादा वर्कआउट करने वाले 2 Scoop ले सकते है और जो लोग कम वर्कआउट करते है वो इसे 1 Scoop ले सकते है। 
  • इसे प्रेगनेंट women या किसी भी तरह की कोई Health से रिलेटेड प्रॉब्लम है उन लोगो को नहीं लेनाचाहिए।ये उन्हें भी नहीं लेना चाहिए जो बिबिल्कुल भी एक्सरसाइज नहीं करते है। 
  • आप चाहे तो किसी भी ब्रैंड के प्रोटीन को लेने से पहले अपने डाक्टर या डाइटीशियन से कंसर्ट कर सकते है। 
  • ये Muscleblaze Raw Whey Protein 80%(Unflavoured) का MRP तो 1999 Rs है।लेकिन मैने इसे Amazon से 1179 Rs का खरीदा था।ये 1 Kg  की पैकिंग में आता है। ये चॉकलेट फ्लेवर में भी आता है। 

नमस्ते दोस्तों आज इस आर्टिकल में मै आपको Organic Cold Pressed Sunflower Cooking Oil 1L का Review देने जा रही हूँ।जो की Big Basket का bb Royal प्रोडक्ट है। 

  1. Cold Pressed oil हमारे स्वास्थ्य के लिए ज्यादा अच्छा होता है क्योंकि इसे कम तापमान की स्थिति में कोल्ड प्रेसिंग/ एक्सपेलर प्रेस के रूप में जाना जाता है। 
  2. फ्राईंग और डीप फ्राईंग भोजन बनाने के लिए ये ऑयल बहुत की हल्का हैऔर इससे भोजन स्वादिष्ट बनता है। इसमें ट्रांस फैटी एसिड भी नहीं होता और ये प्रकृति रूप से केलस्ट्रोल फ्री है। 
  3. Cold Pressed Oil में विटामिन E है और अगर आप google करेंगे तो आपको कोल्ड प्रेस्ड ऑयल के कई फायदे व कैसे बनता है इसके बारे में पता चलेगा। 
  4. जिनको केलस्ट्रोल की प्रॉब्लम हो उनको तो Cold Pressed Oil ही यूज़ करना चाहिए।वैसे तो बाजार में की कुकिंग ऑयल आते है। 
  5. मैने भी कई ऑयल जैसे रिफाइंड ऑयल, केनोला ऑयल, राइस ब्रेन ऑयल आदि इस्तमाल किये और अभी भी करती थी लेकिन 
  6. मुझे ये ऑयल ज्यादा फ्राई कुकिंग के लिए बेस्ट लगा ये बहुत ही कम मात्रा में यूज़ होता है और ये हमारे स्वास्थ्य के लिए भी बहुत लाभदायक है। 
  7. ये मेने Big Basket से मंगाया था।इसका MRP तो 299 है।पर मुझे ये 229 का मिला था।इसका price और Cold Pressed Oil से कम है। इसकी पैकिंग भी मुझे अच्छी लगी। 

Hello दोस्तों आज मै आपको अपने इस आर्टिकल में O'range Shower Gel का Review देने जा रही हूँ। जो की मुझे बहुत सस्ता और अच्छा लगा। 

मैने बहुत से Shower gel यूज़ किये है।लेकिन मुझे Pears और Liril ही ज्यादा अच्छे लगते है। लेकिन ये Shower Gel मैने अभी एक हफ्ते पहले ही मंगाया है। 

 O'range Shower Gel मैने पहली बार इस्तमाल किया है।इस Brand के Products के बारे में मै नहीं जानती थी। इसे मैंने पहली बार Grofers पर ही देखा।

इस Brand की कुछ दिन पहले मैंने एक दो चीजे मंगाई थी जो की मैने यूज़ करी तो मुझे अच्छी लगी इसलिए मैने   O'range Shower Gel (Body Wash )भी इस्तमाल करना चाहा। 


ये Shower Gel मैंने Grofers से मंगाया था।इसकी  MRP 135 है।लेकिन ये मुझे 130 Rs में Buy 1 Get 1 Free मिले। 

इसका Size 250 ml है।ये Glycerin With Almond Oil Shower Gel में आता है।इसकी खुशबु परफ्यूम की तरह हैऔर झाग भी अच्छी बनती है।  

इसके इस्तमाल से skin रफ नहीं होती और ये बहुत ही काम quantity में यूज़ होता है।मैने इसे इस्तमाल किया है मुझे तो ये  Pears की तरह लगा।

जिस किसी को भी Pears Body Wash अच्छा लगता है शायद उन्हें ये Body wash पसंद आए।बाकि सबकी अपनी अपनी पसंद होती है।

मुझे इस Shower Gel की quality, इसलिए अच्छी लगी क्योकि ये बहुत अच्छी झाग बनाता है। price इसलिए ठीक लगा क्योकि ये 65 Rs में 1 Shower Gel पड़ा और quantity बेस्ट लगी क्योकि 250 ml में ये आता है। 

Hello दोस्तों आज में आपके साथ अपने इस आर्टिकल में जीवन में दुःख का आना के बारे में अपने विचार व्यक्त करुँगी।जिस प्रकार हमारे जीवन में सुख आता है उसी प्रकार हमारे जीवन में दुःख भी आता है। 

सुख तो सभी भोगना चाहते है।परन्तु दुःख भोगना कोई भी व्यक्ति नहीं चाहता।लेकिन फिर भी हमे दुःख भोगना ही पड़ता है। 

क्योंकि इसका कारण यह है की कोई भी व्यक्ति अपने किये हुए कर्मो का फल भोगने से बच नहीं सकता।हमारे कर्म अच्छे हो या बुरे उसका फल तो हमे भोगना ही पड़ता है। 

जो व्यक्ति समझदार होता है वो प्रत्येक दुःख को अपने ही कर्मो का निश्चित परिणाम मानता है और शान्त स्वभाव से शान्तिपूर्वक उन्हें भोग लेता है। 

जबकि ये बात कहने में बहुत कड़वी और बुरी लगती है।जब कोई दुखी व्यक्ति को यह कहे की ये सब तुम्हारी करनी का फल है अब भोगो इसे।पर ऐसा कोई हमारे मुँह पर नहीं बोलता। 

बल्कि हमदर्दी के नाते मीठी-मीठी, चुपड़ी, चिकनी बाते बनाकर उस दुखी व्यक्ति को सान्त्वना देनी ही पड़ जाती  है। 

अब कोई स्त्री विधवा हो जाये या किसी का कारोबार नष्ट हो जाये तो आप वहां ये नहीं कह सकते की ये तुम्हारी करनी का फल है। 

परन्तु वास्तविकता और कड़वा सत्य यही है और प्रतेक व्यक्ति इसे मानने और भोगने के लिए विवश है।लेकिन जो व्यक्ति बुद्धिमान है, ईशवर का सच्चा भक्त है और तत्व ज्ञानी है तो वे स्वयं इसे कर्म गति समझ कर, अपने कर्मो का फल समझकर और ईशवर की न्याय व्यवस्था मानकर चुपचाप भोग लेता है और ईशवर से कोई शिकायत नहीं करता। 

क्योकि ईशवर का भक्त भगवान से कभी शिकायत नहीं करता बल्कि अपने ईशवर से हर बात में राजी रहता है और उसे धन्यवाद देता रहता है। 

उसे चाहे जीवन में सुख मिले या दुःख वह हर हाल में अपने सब कर्मो का फल मानकर स्वीकार कर लेता है।ऐसा करने का बहुत बड़ा लाभ है। 

अपने कर्मो के फल सरलता और शांति के साथ भोगने से उस कर्म का फल क्षीण हो जाता है और यदि उस फल को दुखी होकर कलप कर या शिकायत करते हुए भोगा तो फिर से आगे के लिए दुःख के बीज बो लिए। 

इसीलिए संत महात्मा और सज्जन व्यक्ति शान्ति और प्रसन्तापूर्वक दुःख उठा लेते है और अपने अशुभ कर्म क्षीण कर लेते है। 

ऐसे संत महात्मा या सज्जन पुरुष होकर भी कैसा दुःख भोग रहे है।जबकि पापी दुष्ट और बेईमान  मजे कर रहे है।इसका भी यही रहस्य है की सुख और मजे भोगने वाला शुभ कर्मो को क्षीण कर रहा होता है अपने शुभ कर्मो का फल भोग रहा होता है। 

Powered by Blogger.